रुड़की (दैनिक हाक): अपनी स्थापना के 175वें वर्ष का जश्न मनाते हुए, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान रुड़की (आईआईटी रुड़की) ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) और मशीन लर्निंग (एमएल) में बेहतरीन प्रोग्राम देने के लिए एआई में अग्रणी डेलॉइट के साथ एक रणनीतिक सहयोग की घोषणा की, इसे अगली पीढ़ी के कार्यबल का निर्माण करने के लिए डिजाइन किया गया है।

इस साझेदारी का उद्देश्य इंडस्ट्री और एकेडमी संबंधों में क्रांति लाना है जो टैलेंट की खाई को पाटने में मदद करेगा और उच्च स्तर की एआई दक्षता के साथ भविष्य के लीडर को तैयार करेगा। इस साझेदारी के तहत डेलॉइट आईआईटी रुड़की के छात्रों को एआई और एडवांस एनालिटिक्स पर काम करने के लिए फेलोशिप और वर्क-स्टडी प्रोग्राम की पेशकश करेगा। यह सहयोग छात्रों को नए युग के उपकरणों पर टेक्निकल मैन पावर और जानकारी प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा और एआई के भविष्य के लिए एक रोडमैप तैयार करेगा।

डेलॉइट के साथ आईआईटी रुड़की का सहयोग भारत सरकार के डिजिटल इंडिया मिशन के अनुरूप है, जिसका उद्देश्य शासन, बैंकिंग, शिक्षा और स्वास्थ्य आदि सहित हर क्षेत्र में एआई-इनेबल्ड टेक्नोलॉजी को बढ़ावा देना है।यह सहयोग डिजाइन के माध्यम से एआई स्पेस में पहल के प्राथमिकता सेट पर ध्यान केंद्रित करेगा और डेलॉइट कर्मचारियों को शिक्षित करने के लिए एआई और मशीन लर्निंग सर्टिफिकेशन पाठ्यक्रम प्रदान करेगा। यह साझेदारी ऑनलाइन सीखने के पाठ्यक्रमों के साथ इच्छुक छात्रों और भारतीय समुदाय के लिए एआई के ज्ञान को बढ़ावा देगी और इस प्रकार नागरिकों और टैलेंट पूल के डिजिटल सशक्तिकरण होने का मौका मिलेगा। 

डेलॉइट के साथ सहयोग के महत्व पर प्रकाश डालते हुए, आईआईटी रुड़की के निदेशक, प्रो. अजीत के. चतुर्वेदी ने कहा, “आईआईटी रुड़की और डेलॉइट के एक साथ आने से दोनों के लिए नए अवसर पैदा होंगे। वास्तव में, इस साझेदारी में भारत के एआई रोडमैप को मजबूत करने की क्षमता है।”

डेलॉइट एआई में अग्रणी है जिसका उद्देश्य उन लोगों के लिए सबसे अधिक मांग वाला टैलेंट डेस्टिनेशन बनना है जो कंपनियों को एआई-फ्यूलड टीएम संगठनों में बदलने में मदद करना चाहते हैं। डेलॉइट एआई एकेडमी टीएम एक व्यापक सीखने का अनुभव प्रदान करता है और एकेडमिक, टेक्नोलॉजी कंपनियों, कॉर्पोरेट लर्निंग प्रोवाइडर और डेलॉइट एआई विशेषज्ञों को एक एजुकेशन ईको सिस्टम से एक साथ लाता है।

डेलॉइट के मैनेजिंग प्रिंसिपल, बिजनेस, ग्लोबल एंड स्ट्रेटेजिक सर्विसेज, जेसन गिरजादास ने कहा, "डेलोइट सही स्किल सेट के साथ नई प्रतिभाओं को विकसित करने के लिए प्रतिबद्ध है ताकि एआई के लाभों को व्यवसाय और समाज के लिए वितरित किया जा सके। जैसा कि हम अपने ग्राहकों को एआई फ्यूल्ड ऑर्गनाइजेशन बनने की यात्रा को सुविधाजनक बनाने के लिए देखते हैं, आईआईटी रुड़की के साथ सहयोग फ्यूचर बिजनेस लीडर को शिक्षित करेगा, साथ ही एआई में दक्ष बिजनेस रेडी टैलेंट पूल तैयार करेगा।"

इसके अलावा, आईआईटी रुड़की ने डेटा साइंस और मशीन लर्निंग के लिए मेहता फैमिली स्कूल की स्थापना की है जो डेटा साइंस में एमटेक और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में एमटेक प्रदान करता है। यह पीएचडी कार्यक्रम भी प्रदान करता है और यह ऑटम 2022 सेमेस्टर से डेटा साइंस और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस डिग्री प्रोग्राम में पूर्ण बीटेक की पेशकश शुरू करेगा। इसके अलावा, स्कूल संस्थान के सभी छात्रों को डेटा साइंस और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के क्षेत्र में विशेषज्ञता प्रदान करेगा।

प्रो. मनीष श्रीखंडे, डीन एसआरआईसी - आईआईटी रुड़की, ने कहा, "आईआईटी रुड़की एआई और एमएल से संबंधित राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय परियोजनाओं को तकनीकी सहायता प्रदान करने में सबसे आगे रहने पर ध्यान केंद्रित करता है। इसके अन्य उद्देश्यों में भारत सरकार की मेक-इन-इंडिया और आत्मनिर्भर भारत पहल का समर्थन करना और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से संबंधित स्टार्टअप को सीड करना और उनके लिए इंफॉर्मेशन और नॉलेज शेयरिंग के लिए रिर्सोस सेंटर बनाना।



Related news