मुंबई: भारतीय विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने कहा कि 26/11 मुंबई आतंकी हमलों के मुख्य साजिशकर्ता और योजनाकार अब भी सुरक्षित हैं, उन्हें सजा नहीं दी गई है। आतंकवादी उद्देश्यों के लिए नई और उभरती प्रौद्योगिकियों के इस्तेमाल का मुकाबला विषय पर आयोजित विशेष बैठक में उन्होंने कहा कि जब कुछ आतंकवादियों पर प्रतिबंध लगाने की बात आती है, तब कुछ मामलों में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ‘राजनीतिक कारणों से, खेदजनक रूप से’ कार्रवाई करने में असमर्थ रही है। 

उन्होंने कहा कि 26/11 आतंकी हमलों के मुख्य साजिशकर्ता और योजनाकार अब भी सुरक्षित हैं, और उन्हें सजा नहीं दी गई है। जयशंकर ने कहा कि यह स्थिति सामूहिक विश्वसनीयता और सामूहिक हित को कमतर करती है। जयशंकर के साथ गबोन के विदेश मंत्री और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष माइकल मूसा ने ताज महल पैलेस होटल में 26/11 आतंकी हमले में जान गंवाने वाले लोगों को श्रद्धांजलि दी। 

जयशंकर ने कहा, स्तब्ध करने वाला यह आतंकी हमला केवल मुंबई पर ही नहीं बल्कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय पर हुआ आतंकी हमला था। विदेश मंत्री ने कहा कि राजनैतिक मतभेदों से उठकर एक साथ आतंक की लड़ाई में साथ आना होगा। हमें मिलकर संदेश देना चाहिए कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय आतंकवादियों को जवाबदेह ठहराने और न्याय देने में कभी हार नहीं मानेगा। उन्होंने कहा कि 26/11 को कभी भी भुलाया नहीं जा सकेगा। विदेश मंत्री ने कहा कि हम 26/11 के स्मारक स्थल पर शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए उनकी वीरता और उनके संकल्प को सलाम करते हैं।





Related news