नई दिल्ली:14वां ब्रिक्स शिखर सम्मेलन सम्मेलन आज शाम शुरू हो रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ब्रिक्स सम्मेलन में आज हिस्सा लेंगे। सम्मेलन का आयोजन वर्चुअल है और भारतीय समयानुसार आज शाम 5 बजे होगा। चीन की मेजबानी में आयोजित ब्रिक्स के वर्चुअल सम्मेलन में राष्ट्रपति शी जिंगपिंग के अलावा रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो और दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा हिस्सा लेंगे। 14वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन के दौरान आतंकवाद, व्यापार, स्वास्थ्य, पारंपरिक चिकित्सा, पर्यावरण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, नवाचार, कृषि, तकनीकी और व्यावसायिक समेत दूसरे क्षेत्रों में सहयोग पर चर्चा होने की संभावना है।

यूक्रेन युद्ध के बाद यह पहला ब्रिक्स सम्मेलन हो रहा है। ब्रिक्स दुनिया के 5 सबसे बड़े विकासशील देशों का समूह है, जहां वैश्विक आबादी के 41 प्रतिशत लोग रहते हैं। दुनिया की जीडीपी का 24 प्रतिशत और वैश्विक व्यापार का 16 प्रतिशत ब्रिक्स देशों से ही है। कल यानी 24 जून को ब्रिक्स सम्मेलन के दौरान अतिथि देशों के साथ वैश्विक घटनाक्रम पर एक उच्च स्तरीय वार्ता भी होगी। कोरोना और उसके बाद की आर्थिक रिकवरी पर भी चर्चा होगी। यूक्रेन का मसला अप्रत्यक्ष तौर पर सम्मलेन में आ सकता है, हालांकि इसकी आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के आमंत्रण पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 23 और 24 जून को चीन द्वारा डिजिटल तरीके से आयोजित 14वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे। इसमें 24 जून को अतिथि देशों के साथ वैश्विक घटनाक्रम पर एक उच्च स्तरीय वार्ता भी शामिल है।’ विदेश मंत्रालय ने बताया कि शिखर सम्मेलन से पहले बुधवार को ब्रिक्स बिजनेस फोरम के उद्घाटन समारोह में प्रधानमंत्री मोदी के रिकॉर्डेड भाषण को प्रसारित किया जाएगा।

चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने बताया कि ब्रिक्स देशों के नेता और प्रासंगिक उभरते बाजारों एवं विकासशील देशों के नेता 24 जून को बीजिंग में वैश्विक विकास पर उच्च स्तरीय वार्ता में भाग लेंगे, जिसकी मेजबानी शी चिनफिंग करेंगे। उन्होंने कहा कि टिकाऊ विकास के लिए 2030 के एजेंडा को संयुक्त रूप से लागू करने को लेकर नए युग के निर्माण के लिए वैश्विक विकास साझेदारी को बढ़ावा देने के विषय पर डिजिटल तरीके से वार्ता आयोजित की जाएगी। इससे पहले, विदेश मंत्री एस।जयशंकर ने 19 मई को अपने चीनी समकक्ष वांग यी के साथ ब्रिक्स विदेश मंत्रियों की डिजिटल बैठक में भाग लिया था।



Related news