Top
Home > राष्ट्रीय > ED ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में यूनिटेक ग्रुप की 197 करोड़ रुपये की प्रॉपर्टी जब्त की

ED ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में यूनिटेक ग्रुप की 197 करोड़ रुपये की प्रॉपर्टी जब्त की

ED ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में यूनिटेक ग्रुप की 197 करोड़ रुपये की प्रॉपर्टी जब्त की
X

नई दिल्ली: एनफोर्समेंट डायरेक्टोरेट यानी ईडी (Enforcement Directorate) ने रियल एस्टेट कंपनी यूनिटेक ग्रुप (Unitech Group) के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले में 197 करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति जब्त की है. एजेंसी ने शनिवार को इस बारे में जानकारी दी.

10 संपत्तियां अस्थायी तौर पर जब्त

प्रीवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (PMLA) के प्रावधानों के तहत सिक्किम (गंगटोक) और केरल (अलप्पुझा) में एक-एक रिसॉर्ट समेत कुल 10 संपत्तियां अस्थायी तौर पर जब्त की गई है.

ईडी ने कहा, ''इन अचल संपत्तियों का मूल्य 197.34 करोड़ रुपये हैं और कार्नोस्टी ग्रुप की विभिन्न कंपनियों के पास इन संपत्तियों का मालिकाना हक है.'' ईडी ने एक बयान में दावा किया, ''यूनिटेक ग्रुप ने अपराध के जरिए अर्जित 325 करोड़ रुपये के धन को कार्नोस्टी ग्रुप में लगाया और बदले में कार्नोस्टी ग्रुप ने इस धन से कई अचल संपत्तियों की खरीदारी की.''

2,000 करोड़ रुपये से ज्यादा धन अवैध तौर पर साइप्रस और कैमन आइलैंड में भेजने का आरोप

कुछ दिन पहले एजेंसी ने यूनिटेक ग्रुप की 152.48 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की थी. यूनिटेक ग्रुप और इसके प्रमोटर्स के खिलाफ पीएमएलए के तहत एक आपराधिक मामला दर्ज किया गया था. आरोप लगे थे कि यूनिटेक के मालिकों संजय चंद्रा और अजय चंद्रा ने 2,000 करोड़ रुपये से ज्यादा धन अवैध तौर पर साइप्रस और कैमन आइलैंड में भेजे थे.

हाल में एजेंसी ने मामले में जांच के तहत दिल्ली-एनसीआर और मुंबई में 35 परिसरों पर छापेमारी की थी. कंपनी और प्रमोटर्स के खिलाफ दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा द्वारा दर्ज कई प्राथमिकियों का अध्ययन करने के बाद पीएमएलए का मामला दर्ज किया गया था.

—भाषा

Updated : 4 April 2021 4:44 AM GMT
Next Story
Share it
Top