Top
Home > राष्ट्रीय > शिक्षामंत्री निशंक ने महिला सशक्तीकरण पर एआईसीटीई लीलावती पुरस्कार 2020 प्रदान किये

शिक्षामंत्री 'निशंक' ने महिला सशक्तीकरण पर एआईसीटीई लीलावती पुरस्कार 2020 प्रदान किये

शिक्षामंत्री निशंक ने महिला सशक्तीकरण पर एआईसीटीई लीलावती पुरस्कार 2020 प्रदान किये
X

नई दिल्ली: केंद्रीय शिक्षामंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने नई दिल्ली में महिला सशक्तीकरण के लिए विजेताओं को एआईसीटीई लीलावती पुरस्कार 2020 प्रदान किया। पोखरियाल ने प्रतियोगिता में भाग लेने वाली सभी 456 टीमों को बधाई दी। मंत्री ने कहा कि भारत एक ऐसा देश है जहां 'नारी तू नारायणी' हमारे लोकाचार और संस्कृति का अभिन्न अंग रहा है। हमारे प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण के तहत, सरकार ने विभिन्न क्षेत्रों में लड़कियों और महिलाओं के समग्र विकास के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं शुरू की हैं, जिनमें सुकन्या समृद्धि योजना, बेटी बटाओ-बेटी पढ़ाओ योजना आदि शामिल हैं। पोखरियाल ने कहा कि सरकार ने उड़ान योजना शुरू की है जिसका उद्देश्य स्कूल स्तर पर कमजोर सामाजिक-आर्थिक स्थिति वाली लड़कियों को उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए सक्षम बनाना है।

उन्होंने कहा कि हमने युवा महिलाओं के लिए अपनी तकनीकी शिक्षा को आगे बढ़ाने का अवसर प्रदान करने के लिए प्रगति योजना शुरू की है। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति ने लैंगिक समानता पर बहुत जोर दिया है और विद्यार्थियों को महिला सशक्तीकरण को बढ़ावा देने के लिए इस तरह की पहल में भाग लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस तरह के अभिनव कदम लड़कियों को उच्च शिक्षा हासिल करने के लिए बहुत प्रेरित करेंगे। यह पहल महिलाओं के लिए शिक्षा और नवाचार में समानता का मार्ग प्रशस्त करेगी। एआईसीटीई के चेयरमैन प्रोफेसर अनिल सहस्रबुद्धे ने कहा, 'मैं इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' को धन्यवाद देता हूं। राष्ट्र में नारीत्व को सशक्त बनाने के लिए इस साल का लीलावती पुरस्कार प्रदान करते हुए एआईसीटीई को हर्ष हो रहा है। मैं उन सभी टीमों को बधाई देता हूं जिन्होंने इसमें हिस्सा लिया है। भारत महिलाओं का सम्मान करने और नारीत्व की महिमा का गुणगान करने वाले देश के रूप में जाना जाता है और इस तरह की पहलों से एआईसीटीई भी हमारे देश की महिलाओं को सशक्त बनाने में अपना योगदान दे रहा है।

Updated : 12 April 2021 7:52 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top