Top
Home > जीवनशैली > स्वास्थ्य और फिटनेस > साल के अंत तक आ जाएगा बिना सुई वाला टीका

साल के अंत तक आ जाएगा बिना सुई वाला टीका

साल के अंत तक आ जाएगा बिना सुई वाला टीका
X

नई दिल्ली: कोरोना संक्रमण से बचाव में कारगर ऐसे टीके, जिन्हें लगाने के लिए सुई की जरूरत नहीं पड़ेगी और जो सामान्य तापमान पर भी सहेजे जा सकेंगे, साल के अंत तक इस्तेमाल के वास्ते उपलब्ध होंगे। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की वरिष्ठ वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन ने एक साक्षात्कार में यह जानकारी दी। स्वामीनाथन के मुताबिक, साल 2021 के अंत तक छह से आठ नए टीकों का क्लीनिकल परीक्षण पूरा कर लिया जाएगा। औषधि नियामक संस्थाएं भी इनकी सुरक्षा आंकने का काम निपटा लेंगी। इससे 2022 की शुरुआत में कोविड-19 से मुकाबले में सक्षम वैक्सीन की संख्या मौजूदा दस से बढ़कर 16 से 18 पर पहुंच जाएगी। स्वामीनाथन ने बताया कि ज्यादातर नए टीके वैकल्पिक तकनीक एवं आपूर्ति प्रणाली पर आधारित हैं। इन्हें या तो नेजल स्प्रे के जरिये नाक या फिर पट्टी की मदद से त्वचा के रास्ते शरीर में पहुंचाया जाएगा। ये टीके गर्भवती महिलाओं सहित अन्य संवेदनशील समूह के लोगों के लिए कोविड-19 टीकाकरण को आसान बनाएंगे। स्वामीनाथन के मुताबिक दुनियाभर में 80 से ज्यादा टीकों का क्लीनिकल परीक्षण चल रहा है। इनमें से ज्यादातर शुरुआती दौर की आजमाइश से गुजर रहे हैं। कुछ टीके इसमें असफल भी साबित हो सकते हैं। वहीं, कई कंपनियों ने टीके के संवर्द्धित रूप का असर आंकना शुरू कर दिया है, ताकि कोरोना के नए स्वरूप से निपटा जा सके। कोविड-19 टीके की एक खुराक अगर पर्याप्त मात्रा में प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने में कारगर मिलती है तो अतिरिक्त खुराक का इस्तेमाल अन्य लोगों के टीकाकरण में किया जा सकेगा। हालांकि, कई देशों के लिए यह प्रक्रिया बेहद चुनौतीपूर्ण साबित होगी। उन्हें खून की जांच से एंटीबॉडी का स्तर जांचने की जरूरत पड़ेगी, ताकि यह पता लगाया जा सके कि लाभार्थी को दूसरी खुराक दिए बिना भी काम चल जाएगा या नहीं।

Updated : 17 March 2021 6:27 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top