Top
Home > जीवनशैली > स्वास्थ्य और फिटनेस > कैंसर के मरीजों को रेड मीट और अंडा कम खाने की सलाह

कैंसर के मरीजों को रेड मीट और अंडा कम खाने की सलाह

कैंसर के मरीजों को रेड मीट और अंडा कम खाने की सलाह
X

-इलाज में मिल सकती है मदद

लंदन: अब एक नई रिसर्च में यह बात सामने आयी है कि डायट में बदलाव कर कैंसर जैसी गंभीर बीमारी के इलाज में भी मदद मिल सकती हैं। एक नई स्टडी के नतीजे बताते हैं कि अगर कोई व्यक्ति रेड मीट और अंडों का सेवन कम कर दे जिनमें अमीनो ऐसिड की मात्रा अधिक होती है तो कैंसर ट्यूमर के ग्रोथ में कमी आने लगती है जिससे कैंसर ट्रीटमेंट में मदद मिल सकती है। हालांकि यह रिसर्च इंसानों पर नहीं बल्कि चूहों पर की गई थी। इस रिसर्च के लीड अनुसंधानकर्ता जेसन लोकैसले कहते हैं, रिसर्च में सामने आने वाले इफेक्ट्स बेहद मजबूत हैं। ये उस तरह के इफेक्ट्स हैं जो असरदार दवाइयों जितने कारगर हैं। जेसन आगे कहते हैं, ये स्टडी यह दिखाती है कि कई बार ऐसी परिस्थिति आ जाती है जब अकेले कोई दवा अपना काम नहीं कर पाती लेकिन जब उस दवा को किसी खास डायट के साथ लिया जाता है तो उसका असर साफ दिखने लगता है। या फिर अकेले रेडिएशन थेरपी काम नहीं करती लेकिन जब आप उसे सही डायट के साथ लेते हैं तो थेरपी का असर दिखने लगता है। इस स्टडी में अमीनो ऐसिड के इन्टेक पर रोक लगाने की बात कही गई है जो वन-कार्बन मेटाबॉलिज्म के प्रोसेस को बढ़ावा देता है जिससे कैंसर सेल्स बढ़ते हैं। यहां बता दें कि डायबीटीज, हाइपरटेंशन- लाइफस्टाइल से जुड़ी ये कुछ ऐसी बीमारियां हैं जिनमें अगर आप अपनी डायट पर कंट्रोल कर लें तो बीमारी को प्रभावी रूप से मैनेज करने में मदद मिल सकती है।


Updated : 10 Aug 2019 10:45 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top