Top
Home > जीवनशैली > स्वास्थ्य और फिटनेस > छोटी उम्र में ही माथे पर लकीरें दिखे तो हो जाए सावधान

छोटी उम्र में ही माथे पर लकीरें दिखे तो हो जाए सावधान

छोटी उम्र में ही माथे पर लकीरें दिखे तो हो जाए सावधान
X

-ये लकीरें हृदय रोग से होने वाली मौत का संकेत

न्यूयार्क: अगर छोटी उम्र में ही आपके माथे पर लकीरें जिसे कई लोग झुर्रियां भी कहते हैं दिखाई दे रही हैं तो सावधान हो जाइए क्योंकि ये लकीरें हृदय रोग की वजह से समय से पूर्व होने वाली मौत का संकेत हो सकती हैं। म्यूनिक में हुई सालाना यूरोपियन सोसायटी ऑफ कार्डियॉलजी कांग्रेस 2018 में प्रस्तुत की गई एक नई रिसर्च के मुताबिक माथे पर पड़ने वाली झुर्रियां अथेरोस्लेरॉसिस बीमारी जिसमें धमनियां कठोर हो जाती हैं कि वजह से होने वाली असमय मौत के खतरे का संकेत देती हैं। अनुसंधानकर्ताओं ने इस पूरी स्थिति को समझाते हुए बताया कि माथे में मौजूद रक्त वाहिकाएं प्लेक बनने की प्रति ज्यादा संवेदनशील होती हैं क्योंकि वे बेहद छोटी होती हैं। नतीजतन ये रक्त वाहिकाओं की बढ़ती उम्र का संकेत भी हैं। इसके अलावा कोलाजन प्रोटीन और ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस की वजह से भी अथेरोस्लेरॉसिस हो सकता है जिससे माथे पर गहरी लकीरें पड़ जाती हैं। इस रिसर्च के लिए 3 हजार 200 कामकाजी वयस्कों की जांच की गई और उनके माथे पर पड़ने वाली समानांतर झुर्रियों की जांच की गई और यह जानने की कोशिश की गई उन लोगों में कार्डियोवस्क्युलर डिजीज यानी हृदय रोग का खतरा कितना अधिक है। इस रिसर्च में शामिल प्रतिभागियों को उनके माथे पर मौजूद लकीरों की संख्या और गहराई के आधार पर नंबर्स दिए गए। शून्य का अर्थ था कोई झुर्री नहीं और 3 नंबर का मतलब था बहुत ज्यादा और गहरी लकीरें। करीब 20 साल तक प्रतिभागियों की जांच करने के बाद यह पाया गया कि लकीरों का स्कोर जितना ज्यादा था उस प्रतिभागी में हृदय संबंधित रोग होने का खतरा उतना ही अधिक था। वैसे लोग जिनके माथे पर मौजूद लकीरों का स्कोर 2 या 3 था उनमें हृदय रोग और मौत का खतरा 10 गुना अधिक था उन लोगों की तुलना में जिनका स्कोर शून्य था। हालांकि सिर्फ माथे की लकीरें देखकर हृदय रोग का पता नहीं लगाया जा सकता बल्कि इसके लिए जरूरी टेस्ट भी करवाने चाहिए।

Updated : 19 May 2019 9:20 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top