Top
Home > जीवनशैली > स्वास्थ्य और फिटनेस > बादाम का सेवन कोलेस्ट्रॉल के साथ ब्लड शुगर को भी नियंत्रित रखता है

बादाम का सेवन कोलेस्ट्रॉल के साथ ब्लड शुगर को भी नियंत्रित रखता है

बादाम का सेवन कोलेस्ट्रॉल के साथ ब्लड शुगर को भी नियंत्रित रखता है
X

वाशिगटन: बादाम में बहुत सारे गुण हैं, लेकिन हाल ही में किए गए एक अध्ययन में इससे होने वाला एक और फायदा सामने आया है। एक अमेरिकी विश्वविद्यालय में किए गए अध्ययन में पता चला है कि सुबह के नाश्ते में बादाम के सेवन से कोलेस्ट्रॉल और ब्लड शुगर को नियंत्रित करने की क्षमता में बढ़ोतरी होती है। अमेरिका के कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं के अनुसार, कॉलेज में पढ़ने वाले कई छात्र सुबह का नाश्ता नहीं करते। उनके लिए बादाम खाना बेहद लाभदायक साबित हुआ है। शोधकर्ता रूडी आर्टिज ने कहा कि छात्रों पर किए गए इस पहले अध्ययन से यह जाहिर होता है कि सुबह का नाश्ता नहीं करने वालों के लिए बादाम खाना बेहतर हो सकता है। यह निष्कर्ष 73 स्वस्थ छात्रों पर किए गए अध्ययन के आधार पर निकाला गया है। इन छात्रों को सुबह के नाश्ते में भुने बादाम खाने को दिए गए। इसका बेहतर लाभ पाया गया।

पशु आधारित प्रोटीन जैसे मीट और दुग्ध उत्पादों की जगह सोयाबीन, बादाम, अखरोट और दाल जैसे वनस्पति आधारित प्रोटीन के सेवन से कोलेस्ट्राल के स्तर में कमी लाने में मदद मिल सकती है। इस अध्ययन में दावा किया गया है कि इससे हृदय रोग और स्ट्रोक के खतरे से बचा जा सकता है। शोधकर्ताओं के अनुसार, रोजाना वनस्पति आधारित प्रोटीन के सेवन से कोलेस्ट्राल के मार्कर मसलन लिपोप्रोटीन कोलेस्ट्राल (एलडीएल या बैड कोलेस्ट्राल) के स्तर में पांच फीसद तक कमी लाई जा सकती है। रोजाना बादाम, पिस्ता, मूंगफली और अखरोट खाने से इंसान की स्मरण शक्ति बढ़ती है। अमेरिका के लोमा लिंडा विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने पाया कि इनके सेवन से मस्तिष्क के कार्य करने की शक्ति बढ़ जाती है। अध्ययन के दौरान पाया गया कि पिस्ता गामा किरणों से सबसे अधिक प्रतिक्रिया कर स्मरण शक्ति को बढ़ाता और सोने के दौरान आंखों की गति को तेज करता है। वहीं मूंगफली शरीर के रोग ठीक करने के साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाती है। मूंगफली खाने से नींद भी गहरी आती है।


Updated : 14 May 2019 9:26 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top