Top
Home > जीवनशैली > स्वास्थ्य और फिटनेस > शरीर का स्टैमिना बढ़ाने पानी का करे भरपूर सेवन

शरीर का स्टैमिना बढ़ाने पानी का करे भरपूर सेवन

शरीर का स्टैमिना बढ़ाने पानी का करे भरपूर सेवन
X

लंदन: सामान्यत लोग फिटनेस और बेहतर लुक्स के लिए अक्सर लोग जिम ज्वाइन कर लेते हैं। हालांकि वे थोड़ी सी एक्ससाइट के बाद ही हांफ कर थक जाते हैं। अगर आपके साथ भी ऐसा है तो इसका मतलब है कि आपका स्टैमिना कम है। कम स्टैमिना के कारण आप जिम का पूरा लाभ नहीं उठा पाते और फिटनेस पर भी असर इसका पड़ता है। शरीर का स्टैमिना कम होने के कई कारण हो सकते हैं। कई बार पानी की कमी से भी स्टैमिना कम हो जाता है। हमारे शरीर का 70 प्रतिशत हिस्सा पानी से बना है फिर भी शरीर को थोड़े-थोड़े अंतराल पर पानी की जरूरत पड़ती है।
अगर शरीर में पानी पर्याप्त नहीं है तो भले ही खूब प्रैक्टिस करें मगर आपका स्टैमिना मेनटेन नहीं होगा। इसलिए शरीर में पानी की कमी न होने दें और दिन में कम से कम 4-5 लीटर पानी जरुरी। एक्सर्साइज के दौरान भी थोड़ा रुककर पानी पीया जा सकता है। अगर आप रोज सुबह रनिंग करते हैं तो शरीर के लिए पानी बहुत जरूरी है। रनिंग से पहले कम से कम दो-तीन ग्लास पानी पीकर जाएं और साथ में पानी की बोतल भी ले जाएं। ज्यादा मेहनत के कारण में शरीर में पानी की कमी से डिहाइड्रेशन भी हो सकता है। कार्बोहाइड्रेट बॉडी को एनर्जी देता है। सामान्य तौर पर हम जो आहार लेते हैं उससे मिलने वाले कार्बोहाइट्रेट से इतनी ऊर्जा मिल जाती है कि पूरा दिन काम किया जा सके। लेकिन अगर आप जिम जाते हैं तो अतिरिक्त मेहनत के कारण शरीर को ज्यादा कार्बोहाइड्रेट की जरूरत पड़ती है। इसलिए जिम में वर्कआउट से करीब 40 मिनट पहले कार्बोहाइड्रेट रिच डाइट जरूर लें। इससे आपकी परफॉर्मेंस पर बहुत असर पड़ेगा।
अगर आपने अभी-अभी स्टैमिना बढ़ाना शुरू किया है, तो शुरुआत में छोटे-छोटे स्टेप लें, न कि एकदम से बहुत कठिन और सख्त कार्यक्रम बनाएं। यदि आप खुद से निर्धारित दूरी कुछ निश्चित समय में पूरी करना चाहते हैं, तो शुरुआत पैदल चलकर या छोटी-छोटी दूरियां तय करते हुए करें, जब तक आपके शरीर में अधिक स्टैमिना विकसित न हो जाए। स्टैमिना बढ़ाने के चक्कर में अपनी शारीरिक क्षमताओं को न भूलें। जो आप नहीं कर सकते हैं, उस काम का दबाव अपने शरीर पर मत डालें, इससे आप चोटिल हो सकते हैं या मांसपेशियों में ऐंठन भी हो सकती है। इसलिए अपने शारीरिक क्षमताओं को पहचान कर ही व्यायाम का चुनाव करें।

Updated : 11 Dec 2018 8:54 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top