Top
Home > जीवनशैली > स्वास्थ्य और फिटनेस > स्मार्टफोन की लत बच्चों की हड्डियां कर रही हैं कमजोर

स्मार्टफोन की लत बच्चों की हड्डियां कर रही हैं कमजोर

स्मार्टफोन की लत बच्चों की हड्डियां कर रही हैं कमजोर
X

नई दिल्ली: स्मार्टफोन की लत बच्चों को बीमार बना रही है। उनकी हड्डियां कमजोर हो रही हैं। अगर आप अपने बच्चे के जिद करने पर उसे बड़ी आसानी से स्मार्टफोन पकड़ा देते हैं, तो जरा सावधान हो जाएं। डॉक्टरों का कहना है कि फोन के ज्यादा इस्तेमाल से बच्चों में कमर दर्द, गले की हड्डी में झुकाव, उंगलियों को नुकसान, आंखें कमजोर होना, तनाव और अनिद्रा जैसी बीमारियां हो रही हैं। एक सर्वे के मुताबिक दिल्ली के स्कूलों में पढ़ने वाले लगभग 20 फीसदी बच्चे इंटरनेट की लत के शिकार हैं। क्लीनिक के डॉक्टर यतन बलहारा ने बताया कि उनके पास हर हफ्ते 4 से 5 ऐसे मामले आ रहे हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक स्मार्टफोन के अधिक इस्तेमाल से बच्चों की याददाश्त कमजोर हो रही है। वह तनाव और चिड़चिड़ेपन का शिकार हो रहे हैं। अभिभावक डॉक्टर के पास तब आते हैं जब स्थिति बिगड़ जाती है। ऐसे बच्चों के दिमागी विकास में भी बाधा पहुंचती है। उनमें चेहरे के भाव पहचनाने में भी दिक्कतें देखी गई हैं। डॉक्टरों की माने तो उनके पास भी ऐसे मामले देखे जा रहे हैं कि लगातार एक ही अवस्था में घंटों स्मार्टफोन चलाने वाले बच्चों की गर्दन और कमर में दर्द की शिकायत होती है। एक शोध के मुताबिक दिन में 6 घंटे से ज्यादा वक्त तक फोन पर लगे रहने वाले बच्चों में हार्मोन में गड़बड़ी की शिकायत सामने आती है। बच्चे को 3 से 4 घंटे के लिए फोन से दूर रहने के लिए कहें। अगर वह 2 घंटे भी स्मार्टफोन से दूर रहने में असमर्थ है तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं। बिना मकसद फोन चलाने पर दिमाग का फोकस नहीं होता और इससे बच्चा तनाव का शिकार हो सकता है।

Updated : 18 Aug 2018 5:59 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top