Top
Home > जीवनशैली > स्वास्थ्य और फिटनेस > स्वास्थ्य- रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है जिंक, होते है कई पोषक तत्व

स्वास्थ्य- रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है जिंक, होते है कई पोषक तत्व

स्वास्थ्य- रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है जिंक, होते है कई पोषक तत्व
X

लंदन: स्वस्थ शरीर के लिए जिंक ऐसा प्राकृतिक पोषक है जिससे शरीर में रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है। साथ ही त्वचा के स्वास्थ्य तथा जख्मों के उपचार में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। जिंक भी आयरन और कैल्शियम की तरह शरीर के कार्य के लिए बहुत जरूरी पोषक है। जिंक से हमें कई तरह के स्वास्थ्य लाभ मिल सकते हैं। इसकी हल्की-सी कमी के चलते प्रतिरोधक क्षमता में कमी, त्वचा में कमजोरी, दृष्टि कम होना और अन्य कई समस्याएं पैदा हो जाती हैं। मेडिकल विशेषज्ञों के अनुसार, जिंक से डायबीटीज जैसी खतरनाक बीमारी सही हो सकती है। मूंगफली जिंक का सबसे अच्छा स्रोत है। साथ ही इसमें आयरन, विटामिन ई, मैग्नीशियम, पोटैशियम, फोलिक एसिड तथा फाइबर भी होता है। इसमें फ्री रेडिकल्स से बचाने वाला 'रिसवेरेट्राल' नामक ऐंटी-ऑक्सिडेंट भी पाया जाता है। इनमें फैट व कोलेस्ट्रॉल कम मात्रा में होता है। तिल में बहुत ज्यादा जिंक पाया जाता है। साथ ही इसमें कई तरह के प्रोटीन, कैल्शियम, बी कॉम्प्लेक्स और कार्बोहाइड्रेट आदि तत्व पाये जाते हैं। तिल में फोलिक एसिड भरपूर मात्रा में होता है।

डॉक्टर अंडे की जर्दी खाने के लिए मना करते हैं क्योंकि इसमें कोलेस्ट्रॉल बहुत ज्यादा मात्रा में होता है। लेकिन अगर आपको जिंक चाहिए तो अपने आहार में अंडे के पीले भाग को शामिल करना चाहिए। इसके साथ ही पीले भाग में कैल्शियम, आयरन, फास्फोरस, थाइमिन, विटमिन बी6, फोलेट, विटमिन बी12 और पैंथोनिक एसिड भी पाया जाता है। लहसुन में भी बहुत जिंक पाया जाता है। साथ ही रोज लहसुन की एक कली के सेवन से शरीर को विटामिन ए, बी और सी के साथ आयोडीन, आयरन, पोटैशियम, कैल्शियम और मैग्नीशियम जैसे कई पोषक तत्व एक साथ मिल जाते हैं।


Updated : 22 Jun 2019 9:07 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top