Top
Home > शहर > मेरठ > कुलपति ने महाविद्यालयों में ऑनलाईन कक्षाओं के संचालन की प्रगति को जाना

कुलपति ने महाविद्यालयों में ऑनलाईन कक्षाओं के संचालन की प्रगति को जाना

कुलपति ने महाविद्यालयों में ऑनलाईन कक्षाओं के संचालन की प्रगति को जाना
X

मेरठ (दैनिक हाक): चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय में कोरोना वायरस के कारण किये गये लॉकडाऊन से उत्पन्न हुयी परिस्थितियों के दृष्टिगत कुलपति की अध्यक्षता में वीडियों कान्फ्रेंस के माध्यम से विश्वविद्यालय से सम्बद्ध समस्त राजकीय एवं अनुदानित महाविद्यालयों के प्राचार्यो प्रतिकुलपति, कुलानुशासक कुलसचिव एवं परीक्षा नियंत्रक की एक बैठक आहूत की गयी, जिसमें कुलपति द्वारा विभिन्न महाविद्यालयों के प्राचार्यो द्वारा ऑनलाईन कक्षाओं के संचालन के विषय में प्रगति जानने पर कुलपति को अवगत कराया गया कि सभी महाविद्यालयों में शिक्षकों द्वारा ऑनलाईन कक्षाऐं पिछले दो सप्ताह से लगातार संचालित करने के साथ.साथ छात्र-छात्राओं को जूम एैप, स्काईप आदि पर ऑलनईन लैक्चर, ई.मेल, व्हाट्स एप एवं वेबसाईट के माध्यम से अध्ययन सामग्री उपलध्य करायी जा रही है। उन्होने यह भी अवगत कराया कि भविष्य में भी राज्य सरकार, उत्तर प्रदेश शासन कुलाधिपति एवं कुलपति द्वारा दिये गये निर्देशों का पूर्ण रूप से पालन किया जायेगा। कुलपति द्वारा उच्च शिक्षा अधिकारी से समस्त सम्बद्ध महाविद्यालयों के शिक्षकों एवं शिक्षणेत्तर कर्मचारियों द्वारा अपने मासिक वेतन से स्वेच्छिक कटौती कर मुख्यमंत्री राहत कोष में दिये गये योगदान के विषय में जानकारी प्राप्त की गयी तथा महाविद्यालय के प्राचार्यो को अपने महाविद्यालयों के शिक्षकों एवं शिक्षणेत्तर कर्मचारियों द्वारा मुख्यमंत्री ए प्रधानमंत्री राहत कोष में अधिक से अधिक योगदान करने के लिये प्रेरित किया।

कुलपति द्वारा कोविड.19 के कारण प्रभावित एअर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों को मदद करने हेतु महाविद्यालय के शिक्षकों शिक्षणेत्तर कर्मचारियों एवं छात्र,छात्राओं को जागृत करने हेतु अनुरोध किया गया। कुलपति ने महाविद्यालयों के सभी प्राचार्यो से अनुरोध किया कि अपने महाविद्यालय के शिक्षकों को उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य में अनिवार्य रूप से सम्मिलित होने के लिए कहा गया साथ ही सभी समस्त प्राचार्यो को यह भी निर्देशित किया कि अपनी ई.मेल एवं व्हाट्स एप प्रतिदिन चैक करें जिससे विश्वविद्यालय द्वारा दिये गये निर्देशों का ससमय पालन किया जा सकेए भविष्य में ई.मेल, व्हाट्स एप एवं वेबसाईट को ही महाविद्यालय से पत्राचार हेतु प्रयोग किया जायेगा।


Updated : 8 April 2020 12:01 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top