Top
Home > शहर > हरिद्वार > मॉक ड्रिलः भारत गैस प्लांट में बड़ा हादसा, गैस के रिसाव के बाद आग लगी

मॉक ड्रिलः भारत गैस प्लांट में बड़ा हादसा, गैस के रिसाव के बाद आग लगी

मॉक ड्रिलः भारत गैस प्लांट में बड़ा हादसा, गैस के रिसाव के बाद आग लगी
X



एनडीआरएफ की टीम ने घटना पर काबू पाया, 4 लोग घायल

ड्रिल के दौरान प्रादेशिक प्रबंधक सुरेंद्र डोगरा ने राहत व बचाव कार्यों की समीक्षा की

लक्सर (दैनिक हाक): रुड़की रोड स्थित भारत गैस प्लांट में बुलेट एलपीजी टैंकर से टैंक लोरी गैंटरी में गैस डिस्चार्ज करते समय वॉल लिकेज होने से बड़ा हादसा हो गया। इस दौरान गैस के रिसाव के बाद आग लग गई। आग लगते ही एमरजेंसी अलार्म बजाया गया। प्लांट के कर्मियों ने अपने स्तर पर रिसाव को रोकते हुए आग पर काबू पाने के भरसक प्रयास किए लेकिन स्थिति बिगड़ते देख जिला प्रशासन व संबंधित विभागों को सूचित किया गया। जिला प्रशासन की सूचना पर फायर ब्रिगेड, स्वास्थ्य विभाग, राज्य आपदा प्रबंधन बल(एसडीआरएफ), सिविल डिफेंस, औद्योगिक सुरक्षा एवं स्वास्थ्य विभाग तथा पुलिस विभाग की टीमें मौके पर पहुंच गई।पूरी तैयारियों के साथ घटना स्थल पर पहुंचे और स्थिति पर काबू पाने के लिए प्रयास शुरू किए। काफी मशकत के बाद घटना पर काबू पा लिया गया। इस दौरान चार लोग घायल हुए, जिन्हें प्लांट परिसर में बनाए गए अस्थाई मेडिकल पोस्ट में प्राथमिक उपचार के बाद अस्पताल भेज दिया गया।

दरअसल यह सारा घटनाक्रम भारत गैस प्लांट में हुई मॉक ड्रिल का हिस्सा था। ड्रिल के दौरान आपदा घोषित होते ही प्लांट के अंदर बनाए गए स्टेजिंग एरिया में सभी संसाधन तथा बचाव उपकरण व मशीनरी एकत्रित की गई। प्लांट परिसर में ही एमरजेंसी आप्रेशन सेंटर भी बनाया गया था। टीम ने सबसे पहले गैस के प्रभाव का आंकलन किया और इसके बाद राहत व बचाव कार्य आरंभ कर दिया। इस अवसर पर भारत गैस बॉटलिंग प्लांट के प्रादेशिक प्रबन्धक सुरिन्दर डोगरा, प्रबन्धक सयन्त्र रामानुज कर्माकर, सुरक्षा अधिकारी चेतन शर्मा, अभियांत्रिकी अधिकारी कुमार सुदीप शर्मा आईओसीएल के प्रबन्धक पंकज सक्सेना, गोल्ड प्लस के सुरक्षा अधिकारी प्रबन्धक, एचपीसीएल के प्रबन्ध तरुण कुमार, चैकी प्रभारी नितेश शर्मा आदि समेत बाहर से आये अतिथि आदि उपस्थित थे। भारत गैस बॉटलिंग प्लांट के प्रादेशिक प्रबन्धक सुरिन्दर डोगरा ने बताया कि मोक ड्रिल द्वारा आग पर काबू पाने की तैयारी की जाती है जिससे कोई दुर्घटना घटित न हो। सभी ने मोक ड्रिल की तारीफ की और यह कहा कि सभी कर्मचारियो मे आग पर काबू पाने का जोश दिखाई दे रहा था कम्युनिकेशन स्ट्रॉंग था। सभी सुरक्षा उपकरण सही कार्य कर रहे थे।

Updated : 10 Jun 2021 2:06 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top