Home > शहर > हरिद्वार > वन विभाग अब पक्षियों को बचाने में जुटा

वन विभाग अब पक्षियों को बचाने में जुटा

वन विभाग अब पक्षियों को बचाने में जुटा

-चाईनीज मांझें में उलझकर पेड़ों में फंस रहे हैं परिंदे

हरिद्वार (दैनिक हाक): हरिद्वार का वन महकमा आजकल कई चुनौतियों से एकसाथ जूझ रहा है। कहीं फसल उजाडते हाथियों को रोकने के लिए उसे मश्क्कत करनी पड रही है तो कहीं वन्यजीवों को आबादी में घूसने से रोकने के लिए पसीना बहाना पड रहा है। हरिद्वार-भेल क्षेत्र में गुलदारों ने पहले ही नाक में दम कर रखा है जिसके लिए अधिकारी, कर्मचारी दिन-रात भागदौड़ कर रहे हैं। अब नई चुनौती वनों में चाईनीज मांझे में पेड़ों पर उलझे हुए मांझे में फंसे हुए परिंदों को बचाने की है। कर्मचारियों को रोज ही जंगलों में पेडों पर इस मांझे में उलझे हुए घायल परिंदे मिल रहे हैं, जिन्हें विभाग रेस्कयू करने में लगा हुआ है। अभी तक कई परिंदों को कर्मचारी उलझे हुए मांझे से निकालकर जीवनदान दे चुके हैं। लेकिन कई बार पेडों पर डोर में उलझे परिंदों का पता नहीं चल पाता। जब तक कर्मचारी उन्हें ढूंढ पाते हैं वह दम तोड़ चुके होते हैं। अनेक पक्षियों को मरणासन्न हालात में वन कर्मियों ने मांझे से निकाला है। कल भी वन विभाग कार्यालय के पास एक दुर्लभ प्रजाति के उल्लू व एक मोर को वनविभाग के कर्मचारियों ने मौत के मांझे से निकाला।यह दोनों पक्षी मांझे में उलझकर बुरी तरह घायल हो गए हैं और जाने कब से इस मांझे में उलझे हुए थे। वन विभाग कर्मियों की जब इन पर नजर पड़ी तो उन्होंने इन बेजुबानों को डोर से निकालकर इनका उपचार किया, लेकिन यह दोनों ही पक्षी बुरी तरह घायल हैं व इन्हें पूरी तरह स्वस्थ होने में लंबा समय लगेगा।

डीएफओ आकाश वर्मा ने सभी से अपील की है कि बेजुबान परिंदों व इंसानों के लिए भी नुकसानदेह चाईनीज मांझें का उपयोग न करें।


Tags:    
Share it
Top